ओडिशा में रूसी पर्यटक मौत मामला: पुलिस ने होटल कर्मचारियों के दर्ज किए बयान, डीएसपी ने कही यह बात

ओडिशा के रायगड़ा में दो रूसी पर्यटकों की मौत मामले में पुलिस ने होटल के कर्मचारियों का बयान दर्ज किया है. क्राइम ब्रांच के डीएसपी सरोजकांत मोहंती ने मामले को लेकर कहा है कि पुलिस ने होटल कर्मचारियों के बयान दर्ज कर लिए हैं. इस मामले में जांच चल रही है. यह जांच कुछ दिन और चलेगी. उन्होंने जोर देते हुए कहा कि किसी भी बात की पुष्टि करने से पहले हमें बयानों का विश्लेषण करना होगा. Russian tourists death case | We have recorded the statements of the hotel employees. The investigation is underway and it will continue for a few more days. We will have to analyse the statements before confirming anything: Saroj Kant Mohanty, DSP Crime Branch, Odisha https://t.co/Wp4mJbGBfp pic.twitter.com/IViCDeYVxy— ANI (@ANI) January 1, 2023 गौरतलब है कि ओडिशा के होटल में 65 वर्षीय शख्स पावेल एंथोम रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन की पार्टी से जुड़े थे. रिपोर्ट के मुताबिक, यूक्रेन के खिलाफ युद्ध के बाद वह पुतिन की कई मौकों पर आलोचना भी कर चुके थे. इस बात को लेकर आरोप लग रहे हैं कि उनकी मौत रहस्यमय हालत में हुई है. हालांकि पुलिस मामले की जांच कर रही है. ISRO: इस साल स्पेस में मानव भेज सकता है इसरो, अंतरिक्ष क्षेत्र के लिए उपलब्धियों भरा रहा साल 2022तीसरी मंजिल से गिरने से हुई थी मौत: बता दें, पावेल एंथोम की होटल की तीसरी मंजिल से गिरने से मौत हो गयी थी. होटल के बाहर खून से लथपथ उनका शव पड़ा मिला था. घटना के बाद उन्हें जिला अस्पताल ले जाया गया जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया था. इससे पहले पावेल के सह-यात्री व्लादिमीर बिडेनोव 22 दिसंबर को उसी होटल में मृत पाए गए थे. वे होटल की पहली मंजिल पर अपने कमरे में बेहोशी की हालत में पड़े मिले थे. उनके शव के पास शराब की कुछ खाली बोतलें भी पड़ी मिली थी.राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन की समर्थक पार्टी से जुड़े थे एंथोंम: गौरतलब है कि ओडिशा के होटल में मृत पाये गये पावेल एंथोम रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन की समर्थक पार्टी से जुड़े थे. एंथोंम व्लादिमीर क्षेत्र से सांसद थे. मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक,  एंथोंम 2019 में सबसे ज्यादा कमाई करने वाले नेता बने थे. खबर है कि वह अपना 65वां जन्मदिन मनाने के लिए भारत पहुंचे थे. हालांकि यह भी बताया जा रहा है कि एंथोंम भले ही व्लादिमीर पुतिन की पार्टी से जुड़े थे, लेकिन हाल के दिनों में उन्होंने रूसी राष्ट्रपति की जमकर आलोचना भी की थी. ऐसे में उनकी मौत के लेकर कई कयास लगाये जा रहे हैं.

ओडिशा में रूसी पर्यटक मौत मामला: पुलिस ने होटल कर्मचारियों के दर्ज किए बयान, डीएसपी ने कही यह बात
ओडिशा में रूसी पर्यटक मौत मामला: पुलिस ने होटल कर्मचारियों के दर्ज किए बयान, डीएसपी ने कही यह बात

ओडिशा के रायगड़ा में दो रूसी पर्यटकों की मौत मामले में पुलिस ने होटल के कर्मचारियों का बयान दर्ज किया है. क्राइम ब्रांच के डीएसपी सरोजकांत मोहंती ने मामले को लेकर कहा है कि पुलिस ने होटल कर्मचारियों के बयान दर्ज कर लिए हैं. इस मामले में जांच चल रही है. यह जांच कुछ दिन और चलेगी. उन्होंने जोर देते हुए कहा कि किसी भी बात की पुष्टि करने से पहले हमें बयानों का विश्लेषण करना होगा.

गौरतलब है कि ओडिशा के होटल में 65 वर्षीय शख्स पावेल एंथोम रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन की पार्टी से जुड़े थे. रिपोर्ट के मुताबिक, यूक्रेन के खिलाफ युद्ध के बाद वह पुतिन की कई मौकों पर आलोचना भी कर चुके थे. इस बात को लेकर आरोप लग रहे हैं कि उनकी मौत रहस्यमय हालत में हुई है. हालांकि पुलिस मामले की जांच कर रही है.

तीसरी मंजिल से गिरने से हुई थी मौत: बता दें, पावेल एंथोम की होटल की तीसरी मंजिल से गिरने से मौत हो गयी थी. होटल के बाहर खून से लथपथ उनका शव पड़ा मिला था. घटना के बाद उन्हें जिला अस्पताल ले जाया गया जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया था. इससे पहले पावेल के सह-यात्री व्लादिमीर बिडेनोव 22 दिसंबर को उसी होटल में मृत पाए गए थे. वे होटल की पहली मंजिल पर अपने कमरे में बेहोशी की हालत में पड़े मिले थे. उनके शव के पास शराब की कुछ खाली बोतलें भी पड़ी मिली थी.

राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन की समर्थक पार्टी से जुड़े थे एंथोंम: गौरतलब है कि ओडिशा के होटल में मृत पाये गये पावेल एंथोम रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन की समर्थक पार्टी से जुड़े थे. एंथोंम व्लादिमीर क्षेत्र से सांसद थे. मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक,  एंथोंम 2019 में सबसे ज्यादा कमाई करने वाले नेता बने थे. खबर है कि वह अपना 65वां जन्मदिन मनाने के लिए भारत पहुंचे थे. हालांकि यह भी बताया जा रहा है कि एंथोंम भले ही व्लादिमीर पुतिन की पार्टी से जुड़े थे, लेकिन हाल के दिनों में उन्होंने रूसी राष्ट्रपति की जमकर आलोचना भी की थी. ऐसे में उनकी मौत के लेकर कई कयास लगाये जा रहे हैं.